होम राजनीती आगरा यूपी। अग्निकांड की गूंज सीएम योगी तक पहुंची, कार्रवाई के लिए...

आगरा यूपी। अग्निकांड की गूंज सीएम योगी तक पहुंची, कार्रवाई के लिए दौड़े अफसर।

आगरा यूपी। आगरा में रसूख के आगे होटल व हॉस्पिटल में नियम बौने हो गए हैं। बेसमेंट में आईसीयू, ऑपरेशन थियेटर व वार्ड चल रहे हैं। होटलों के नक्शे पास नहीं हैं। आग लगने पर बचने के इंतजाम नहीं हैं। प्रशासन की 2015-16 की रिपोर्ट के अनुसार शहर में पांच सौ से अधिक अवैध होटल व हॉस्पिटल हैं, कार्रवाई न होने से इनकी संख्या बढ़ी ही है। लखनऊ के लेवाना होटल अग्निकांड में चार लोगों की मौत के बाद भी आगरा विकास प्राधिकरण, अग्निशमन विभाग, पर्यटन विभाग और पुलिस-प्रशासन ने सबक नहीं लिया। बुधवार को खेरिया मोड़ स्थित आर मधुराज हॉस्पिटल इसका नतीजा है। यहां अग्निकांड में 3 लोगों की मौत हो गई।

हादसे की गूंज मुख्यमंत्री तक पहुंची, तब बृहस्पतिवार को स्वास्थ्य विभाग के अफसर कार्रवाई के लिए दौड़े। ऐसे में विकास प्राधिकरण और स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार सवालों के कठघरे में खड़े हैं। अवैध हॉस्पिटल कैसे लंबे समय तक खुले रहते हैं। हॉस्पिटल की नियमित जांच क्यों नहीं होती। बेसमेंट में आईसीयू कैसे खुल जाते हैं। हादसे के लिए जिम्मेदार कौन। क्या बिना एनओसी पंजीकरण हुए। क्या घर बैठे एनओसी जारी की गईं।

Advertisement

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें