होम राजनीती चुनाव बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की तैयारी में सरकार :...

चुनाव बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की तैयारी में सरकार : राजीव शुक्ला

petrol diesel hike on the cards

रिपोर्ट सन्दीप मिश्र लखनऊ।

लखनऊ।महंगाई और पेट्रो उत्पादों की कीमतों में बढ़ोत्तरी को लेकर चिंता ब्यक्त करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य राजीव शुक्ला ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा।

अपने मोबाइल पर हमारी एप्प डाउनलोड करें


प्रदेश कांग्रेस कार्यालय नेहरू भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 7 मार्च को चुनाव ख़त्म रहे हैं, इसके बाद सरकार पेट्रोल और डीजल की कीमतों में भारी बढ़ोत्तरी करने जा रही है। उन्होंने कहा कि पेट्रोल में 20 रुपये प्रति लीटर और डीजल में 15 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी करने जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार तर्क देगी कि यूक्रेन में रूस के हमले की वजह से पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हैं, इसलिए हमें भारत में बढ़ाना पड़ रहा है।


उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाना, जनता के ऊपर एक बहुत बड़ी मार होगी। मोदी सरकार से हमारी अपील है कि चूंकि बेरोजगारी चरम पर है, ऐसे में ऐसे में जनता पर अतिरिक्त भार न डाला जाए। उन्होंने कहा कि हम क्रूड ऑयल को अपना पैमाना मानते हैं, अभी वह 100 डॉलर प्रति बैरल के आसपास है। कांग्रेस की सरकार थी, तब क्रूड ऑयल प्रति बैरल 120 डॉलर तक गया था। लेकिन कांग्रेस की सरकार ने उस समय भी 68 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल और 58 रुपये प्रति लीटर डीजल जनता को दिया।


उन्होंने कहा कि जब क्रूड ऑयल की कीमतें बढ़ीं, तब सारा भार तत्कालीन कांग्रेस की यूपीए सरकार ने वहन किया था और सब्सिडी देकर लोगों को राहत दी थी।लेकिन इस यूक्रेन संकट के बहाने से भाजपा सरकार डीजल पेट्रोल की दरों में भारी बढ़ोतरी करना चाहती है हमारा सुझाव है कि वृद्धि बिल्कुल ना की जाय और उस भार को केंद्र सरकार खुद ही वहन करे।


सरकार डीजल और पेट्रोल के दामों में बढ़ोतरी करेगी, तो महंगाई बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भयानक बेरोजगारी और गरीबी है। प्रदेश के लोग परेशान हैं, त्रस्त हैं, इसलिए राज्य और केंद्र सरकार को इस तरफ ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार से कोई भी खुश नहीं है। उन्होंने कहा कि सीने में जलन आंखों में तूफ़ान सा क्यूं है, इस शहर में हर शख्स परेशान सा क्यूं है। उन्होंने कहा कि हम झूठे वादे नहीं करते हैं, हम जो कहते हैं उसे करने में विश्वास करते है। छत्तीसगढ़ सरकार ने किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था, उसे सरकार बनते ही माफ किया। इसी तरह उत्तर प्रदेश में भी इसे लागू किया जाएगा।


इस मौके पर राजीव शुक्ल ने उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रदेश महासचिव शरद मिश्रा द्वारा प्रोड्यूस कराए गए कांग्रेस के तीन प्रचार गीतों को जारी किया। इनमें एक गीत लड़की हूं लड़ सकती हूं अभियान पर, एक कांग्रेस के वचन निभाने के वादे पर और एक गीत महंगाई को लेकर है।


उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी लड़कियों और महिलाओं की सुरक्षा की पक्षधर है। हम रोजगार देने के लिए वचनबद्ध हैं, किसानों का कर्ज माफ़ करने, बिजली का बिल आधा करने का संकल्प ही विकल्प है। चुनाव इन्हीं मुद्दों पर लड़े जाएं यही जनता के हित में होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी इस विधानसभा चुनाव में जातिवाद और संप्रदायवाद के जहर से सूबे को मुक्त कराने के संकल्प के साथ गरीबों, शोषितों की लड़ाई लड़ रही है।

Advertisement

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें