Home अन्य खबरें जरूरतमंद एवं हुनरमंद 60 छात्र-छात्राओं को मिली 16 लाख 50 हजार की छात्रवृत्ति

जरूरतमंद एवं हुनरमंद 60 छात्र-छात्राओं को मिली 16 लाख 50 हजार की छात्रवृत्ति

0
जरूरतमंद एवं हुनरमंद 60 छात्र-छात्राओं को मिली 16 लाख 50 हजार की छात्रवृत्ति

जरूरतमंद एवं हुनरमंद 60 छात्र-छात्राओं को मिली 16 लाख 50 हजार की छात्रवृत्ति

“रुमा देवी फाउंडेशन द्वारा अक्षरा” योजना में चयनित प्रतिभाओं के लिए आयोजित हुआ सालाना जिला स्तरीय कार्यक्रम

बाङमेर- सामाजिक कार्यकर्ता प्रख्यात फैशन डिज़ाइनर और ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान अध्यक्ष डॉ रूमा देवी द्वारा बाड़मेर जिले के ग्रामीण प्रतिभावान विद्यार्थियों को प्रतिवर्ष दी जाने वाली छात्रवृत्ति योजना “रूमा देवी-सुगणी देवी अक्षरा” के तहत रूमा देवी फाउंडेशन द्वारा उनके क्राफ्ट सेंटर बलदेव नगर,बाङमेर में सोमवार को जिला स्तरीय छात्रवृत्ति वितरण एवं प्रतिभा सम्मान समारोह आयोजित किया गया।
कार्यक्रम की शुरुआत वीणा भजन गायिका छात्रा केलम व दरिया द्वारा गुरू महिमा और पधारे हुए अतिथियों के हाथों दीप प्रज्वलित कर की गई।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गुमनाराम लेगा ने प्रतिभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप इस स्कॉलरशिप से प्राप्त एक-एक रूपये की वेल्यू को समझकर अपनी शिक्षा के लिए सदुपयोग करे और काबिलियत के बलबूते आगे बढे। शिक्षा ही एकमात्र ऐसा क्षेत्र हैं जो आपको शून्य से शिखर तक की सीढी प्राप्त करवा सकती हैं।

उन्होंने कहा कि सामाजिक कार्यो के साथ-साथ विलुप्त हो रही कला को सरंक्षित करने के लिए संस्थान जो प्रयास कर रही है,यह आने वाली पिढियां याद रखेगी।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए रावत त्रिभुवन सिहं ने कहा कि आप सभी उगते हुए सूरज की तरह भारत का भविष्य है, आने वाली पीढ़ी को आप से बहुत उम्मीदें हैं,आज आपको जिन आशाओं के साथ रूमादेवी फाउंडेशन द्वारा छात्रवृत्ति दी गई है उसका वापस पॉजिटिव परिणाम लाकर दें। इससे इनका हौसला अफजाई होगा और जरूरतमंद विद्यार्थियों की सहायता कर पाएंगे।

कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार  से सम्मानित गीता माली ने छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप अपने मनोबल और सफलता प्राप्त व्यक्तियों की संगत, उनके विचारों से प्रेरणा लेकर अपने-अपने क्षेत्र में आगे बढ़े।

संस्थान अध्यक्ष डॉ रूमा देवी ने चयनित विद्यार्थियों, खिलाड़ियों और कला के क्षेत्र में अपने कौशल का प्रदर्शन करने वाले लाभार्थियों को विस्तृत जानकारी देते  हुए कहा कि इस “अक्षरा” छात्रवृत्ति योजना में कुल ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड द्वारा 5000 से ज्यादा आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें से आप 60 प्रतिभाओं का चयन फाउंडेशन की ओर से गठित निर्णायक कमेटी द्वारा किया गया।

हरि गढवाल ने धन्यवाद संदेश देते हुए कहा कि मैं आप सभी से आशा करता हूं कि आप इस अक्षरा छात्रवृत्ति से प्राप्त मदद का सदुपयोग करके  शिक्षा कला व खेल के क्षेत्र में अपने परिवार,गाँव और जिले का नाम रोशन करेंगे।

खिलाड़ियों ने बताए अपने सपने
 क्रिकेटर अनीशा बानो ने बताया कि मुझे इंडियन वूमेन नेशनल क्रिकेट टीम में जगह बनानी है, मैं बहुत खुश हूं कि मुझे आज  लगातार दूसरी बार अक्षरा छात्रवृत्ति से लाभान्वित होने का अवसर मिला, मैं मेरे खेल संबंधित किट खरीद कर आगे बढ़ने का निरंतर प्रयास करूंगी।

 पहलवान रफीक खान ने कहा कि मैं अक्षरा छात्रवृत्ति की बदौलत ही पिछले दिनों यूनिवर्सिटी से गोल्ड मेडल एवं अंडर 23 सीनियर से सिल्वर मेडल जीत पाया। मेरी इच्छा 2028  मैं आयोजित होने वाले ओलंपिक खेलों में भाग लेकर देश के लिए मेडल लाने की है।

इस अवसर पर उपस्थित पद्म श्री अनवर खां, डॉ आदर्श किशोर जाॅणी, वरिष्ठ हस्तशिल्पी पितांबर खत्री, शिक्षाविद् केशराराम चौधरी, संस्थान सचिव विक्रमसिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

कार्यक्रम में यह रहे उपस्थित
योगाचार्य लक्ष्मण राम भांभू, सोनाराम के जाट, नरसिंह बाकोलिया, केहराराम सणपा, युवा उद्यमी प्रताप चौधरी, रघुवीर सिंह तामलोर, मोहनलाल सोलंकी, मांगीलाल गुप्ता, मेघराज खत्री सहित बङी संख्या मे प्रबुद्ध जन उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का संचालन जसवंत सिंह डूडी एवं  खुशाली ठक्कर ने किया।

रूमा देवी फाउंडेशन द्वारा आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में इन 60 प्रतिभाओं को मिली “अक्षरा” छात्रवृत्ति

खेल के क्षेत्र में
 जोगासर कुआँ गरल से गंगा चौधरी, रामसर का कुआ से बबीता,मंदो की ढाणी से रफीक खान, रतेऊ से भैराराम, कानासर से अनीशा बानो, लापला से ममता, सामरङी से दिलिप दास को।

कला के क्षेत्र में
सुथारों का तला से हेमपुष्पा, शिवाजी नगर से कुमारी केलम, खेत सिंह की प्याऊ से अशोक कुमार सहेलिया,आटी से ओमाराम गर्ग, खट्टू से प्रकाश को।

शिक्षा के क्षेत्र में
मंगने की ढाणी से शांति, नरसाली  नाड़ी से रामू, गंगावास से शांति, जाखड़ों की ढाणी से चंचल,दानोणी मेघवालों की ढाणी से सजनी, आडेल से सुनीता, जाखड़ा से दिव्या, मुकने का तला से प्रकाश चौधरी,बायतु भीमजी से विमला कुमारी,अरणियाली से धर्मी चौधरी, आरंग से गंगा प्रजापत,लखा से प्रीतम सिंह,माडपुरा बरवाला से अनीता, जसाई से कुमारी रूपा, डूगैरों का तला से शांति, सुजान नगर से गज्जू, हीरा की ढाणी से सवाई राम, भवानीपुरा से लीला कुमारी, मूले का तला से हीरो, रामदेरिया से कांता चौधरी, कारलिया बेरा से भावना चौधरी, थूम्बली से मोतीलाल सुथार,काऊ का खेड़ा से राधा, भूकरासर से प्रमिला,दीनगढ़ से लीला, लखवारा से रामावतार, झांफली कला से भोमाराम, लापला तला से गणेश चौधरी, मूढो का तला से जसाराम, छोटू से लहरो चौधरी, लकड़ासर से गणेशाराम, आमलियाला से पृथ्वी राज सोलंकी ,कटल से भंवराराम, लीलसर से प्रेमी, भूरटिया से दिव्या, गेहूं रोङ से रेवंती, निबाणियो की ढाणी से रुखमणी, बायतु भोपजी से खेतू,धनाऊ से रवि जयपाल,रावतसर से ज्योति, रामसर का कुआ से कुसुंबी, बाछङाऊ से शांति, जाखड़ों की ढाणी से पेमी, रानीगांव से डूंगरा राम, अभे का पार से किशनलाल, कुङला से बांकाराम,कोसरिया से पवनी,गौड़ा से मालती  को चेक के माध्यम से 25-25 हजार की सालाना छात्रवृत्ति अतिथियों के हाथों प्रदान की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here