होम बड़ी खबरें 48 घंटे के लिए गुल हो सकती है बिजली, बरतें यह सावधानी

48 घंटे के लिए गुल हो सकती है बिजली, बरतें यह सावधानी

गुल हो सकती है बिजली

5 तारीख रात 9 बजे 9 मिनट के लिए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस से लड़ाई के लिए सभी से एकजुटता दिखाने की अपील की थी और कहा था की 5 तरीक को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपनी बतियाँ बंद कर दें और अपनी बालकोनी में दिये, मोमबत्ती, टॉर्च या मोबाइल से रौशनी करें।

प्रधानमंत्री का वीडियो सन्देश

ऐसा करने के पीछे प्रधानमंत्री की मंशा अच्छी ही रही होगी लेकिन उनको शायद यह नहीं मालूम रहा होगा की ऐसा करके वह एक नई मुसीबत को न्योता दे रहे हैं।

हो सकती है बिजली की मांग में भारी कमी

पुरे भारत में लॉक डाउन की वजह से बिजली की मांग में पहले से ही भारी कमी हो चुकी है और सभी विद्युत सयंत्र अपने न्यूनतम क्षमता पर चल रहे हैं। लेकिन अगर 5 तारीख को सभी लोग एक साथ बिजली बंद करते हैं और फिर 9 मिनट के बाद एक साथ चालु करते हैं तो इसकी वजह से वोल्टेज और फ्रीक्वेंसी के भारी बदलाव की वजह से ग्रिड फेलियर होने की संभावना बहुत अधिक हो जाती है।

जैसे ही प्रधानमंत्री ने बतियाँ बंद करने की अपील की तभी से सरकारी तंत्र हरकत में आ गया और स्तिथि से निपटने लिए त्यारी में जुट गया। ऊर्जा मंत्रालय ने सफाई देते हुए कहा कि हमारे विद्युत् ग्रिड ऐसी किसी भी उतार चढ़ाव को झेलने के लिए मजबूत हैं और इसके इसके लिए व्यवस्था भी की गयी है। ऐसा नहीं है कि यह पहली बार हो रहा है अर्थ ऑवर भी लोग बतियाँ बंद करते रहें है।

बरतें यह सावधानी

प्रधानमंत्री ने सिर्फ बतियाँ बंद करने की अपील की है ना की फ्रिज ए सी आदि। इसके अलावा सभी ज़रूरी प्राइवेट और सरकारी संस्थान सुचारु रूप से अपना काम जारी रखेंगे। सड़कों पर बत्तियाँ भी जलती रहेंगी इसलिए बिजली विभाग को आशा है की उनके द्वारा किये गए इंतज़ाम पुख्ता साबित होंगे।

एक अन्य सावधानी बरतने की आवश्यकता है, दिया मोमबत्ती सिर्फ बाहर ही जलाएं , ध्यान रहे घर के अंदर मोमबत्ती जलाने से कोई हादसा ना हो। मोमबत्ती दिया आदि जलाने से पहले सेनिटाइज़र का इस्तेमाल ना करें , सेनिटाइज़र को आग से दूर रखें। सेनिटाइज़र में एलकोहल होता है जो की जल्दी आग पकड़ता है।

Advertisement

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें