होम जानकारी आरबीआई लेके आ रही देश की पहेली डिजिटल करेंसी ई-रूपये, कैसे काम...

आरबीआई लेके आ रही देश की पहेली डिजिटल करेंसी ई-रूपये, कैसे काम करेगी!

देश में डिजिटल क्रांति के बीच अब आपके जेब में रखा रुपया भी जल्द ही डिजिटल होने जा रहा है। भारतीय रिजर्व बैंक जल्द ही देश की पहली डिजिटल करेंसी ‘ई-रुपया’ को लॉन्च करने जा रहा है। रिजर्व बैंक के मुताबिक इस पायलट प्रोजेक्ट में ई-रुपये का इस्तेमाल सिर्फ खास स्थितियों के लिए ही किया जाएगा। इसके साथ ही रिजर्व बैंक ने सेंट्रल बैंक डिजिटल करंसी पर कॉन्सेप्ट नोट भी जारी कर दिया है। इस नोट का उद्देश्य डिजिटल करंसी को लेकर और खास तौर पर डिजिटल रुपये की खासियतों को लेकर लोगों के बीच जागरुकता फैलाना है।

इस कॉन्सेप्ट नोट में डिजिटल मुद्रा की प्रौद्योगिकी और डिजाइन विकल्प, डिजिटल रुपये के संभावित उपयोग, और डिजिटल मुद्रा को जारी करने की व्यवस्था जैसे प्रमुख मुद्दों पर भी चर्चा की गई है। इसमें सीबीडीसी की शुरूआत के चलते बैंकिंग प्रणाली, मौद्रिक नीति और वित्तीय स्थिरता पर पड़ने वाले प्रभावों की पड़ताल की गई है। साथ ही गोपनीयता के मुद्दों का विश्लेषण भी किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अगस्त 2021 को कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस भुगतान के नए टूल के रूप में ई-रुपी का शुभारंभ किया। दरअसल ई-रुपी मूल रूप से एक डिजिटल वाउचर है, जो एक लाभार्थी को उसके फोन पर SMS या QR कोड के रूप में मिलता है। उदाहरण के लिए यदि सरकार अपने किसी कर्मचारी का किसी खास अस्पताल में विशेष इलाज का खर्च उठाना चाहती है, तो वह एक पार्टनर बैंक के जरिए निर्धारित राशि के लिए ई-रुपी का वाउचर जारी कर सकेगी।     

Advertisement

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें