होम खेल Ind Vs Aus 2nd T-20 : भारत के लिए आज करो या...

Ind Vs Aus 2nd T-20 : भारत के लिए आज करो या मरो का मुक़ाबला

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच नागपुर के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियममें आज टी-20 सीरीज का दूसरा मुकाबला होना है। तीन मैचों की सीरीज में पहला मैच हारकर भारत सीरीज में 1-0 से पिछड़ चुका है और यदि आज का मैच भारत ऑस्ट्रेलिया के हाथों गँवा देता है तो सीरीज हाथ से निकल जाएगी। गौरतलब है की पिछले 3 सालों में भारत घरेलु मैदान में कोई भी सीरीज़ नहीं हारा है। भारत के लिए राहत की बात है की स्टार तेज गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह खेलने के लिए पूरी तरह फिट है और वो आज प्लेइंग 11 का हिस्सा रहेंगे। सूर्य कुमार यादव ने कल ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि वो पूरी तरह फिट है और खेलने के लिए तैयार हैं।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्तमान सीरीज़ के लिए बुमराह को टीम में चुना गया था लेकिन टीम मैनेजमेंट उन्हें मोहाली में हुए पहले मैच में अंतिम एकादश में नहीं चुना जिससे ये आशंका पैदा हो गयी थी कि क्या बुमराह पूरी तरह से फिट हैं। भारतीय टीम पर घरेलु मैदान में ऑस्ट्रेलिया के हाथों लगातार दूसरी सीरीज गंवाने का खतरा मंडरा रहा है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिआ के खिलाफ है वर्ष 2019 में भारतीय टीम ने दो मैचों की सीरीज 2-0 से गवाईं थी। विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम का विकेट थोड़ा स्लो रहता है इसलिए यहाँ गेंदबाज़ों की भूमिका बढ़ जाती है शाम होते ही क्योंकि पिच पर ओस का प्रभाव पड़ने लगेगा ऐसी स्थति में कोई भी टीम लक्ष्य का पीछा करना ही बेहतर समझेगी।

भारत के लिए सबसे बड़ी चिंता उसका गेंदबाज़ी विभाग है। मोहाली में हुए पहले मैच में जहाँ बल्लेबाज़ों ने अच्छा प्रदर्शन कर 209 रन का पहाड़ सा स्कोर खड़ा कर दिया था लेकिन गेंदबाज़ उसकी रक्षा नहीं कर सके। अक्षर पटेल को छोड़कर कोई भी गेंदबाज़ मोहाली में प्रभाव नहीं डाल पाया था। तेज गेंदबाज पूरी तरह से बेअसर रहे थे। डेथ ओवर में गेंदबाज़ी एक बड़ी चिंता का विषय है। पिछले मैच में भारत की फील्डिंग भी अच्छी नहीं रही और उसने तीन आसान कैच टपकाए। इसके लिए पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी टीम की आलोचना की थी।

वहीँ ऑस्ट्रेलिया हर विभाग में मजबूत नज़र आ रहा है। जबकि ऑस्ट्रेलिया टीम के साथ डेविड वॉर्नर, मिशेल स्टार्क, मार्कस स्टोइनिस और मिशेल मार्श जैसे खिलाड़ी नहीं है। वार्नर के ना होने पर पारी की शुरुआत करने के लिए भेजे गए कैमरून ग्रीन ने अपनी भूमिका बहुत अच्छे से निभाई वहीँ अनुभवी स्टीवन स्मिथ और ऑस्ट्रेलिया की तरफ से पहला मैच खेल रहे टिम डेविड ने टीम को मजबूती प्रदान की।  

Advertisement

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें