होम देश हमारे लाल वापस लाओ, भारत सरकार ने प्लान बी पर किया फ़ोकस

हमारे लाल वापस लाओ, भारत सरकार ने प्लान बी पर किया फ़ोकस

लखनऊ।यूक्रेन व रूस के बीच जबरदस्त युद्ध जारी है।अब तक यूक्रेन के लगभग 140 लोग मिसाइल व बम धमाकों में मारे गए हैं।जबकि रूस के कई विमान ध्वस्त हो गए हैं।इस माहौल के बीच यूक्रेन में फंसे लगभग 20 हजार भारतीयों को वापस स्वदेश लाने की भारत सरकार की रणनीति अभी सिर्फ प्रयासों तक ही सीमित है।

पीएम मोदी ने की रूस के राष्ट्र्पति से बात

पीएम मोदी ने सीएसएस की बैठक के बाद रूस के राष्ट्रपति पुतिन से फोन पर बात की है।इस बातचीत में पीएम मोदी ने प्रमुखता से भारतीयों को सुरक्षित निकालने में मदद करने की बात की है।विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि इस बातचीत में एक हल जरूर निकला है कि रूस प्रशासन ने यूक्रेन में फंसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने में भारत की पूरी मदद करने का ठोस आश्वासन दिया है।

भारत ने प्लान बी पर किया फोकस

यूक्रेन में अन्य भारतीयों को मिलाकर लगभग 20 हजार छात्र अलग-अलग शहरों में फंसे हुए हैं।उनके परिजनों को अब अपने बच्चों की सलामती की चिंता सता रही है।इधर भारत सरकार ने यूक्रेन में फंसे छात्रों व अन्य भारतीयों को वापस स्वदेश लाने के प्लान बी पर काम करना शुरू कर दिया है।इस प्लान के तहत ही यूक्रेन में फंसे भारतीयों को पोलैंड, रोमानिया, देशों से सड़क मार्ग से वापस भारत लाने का प्रयास सरकार कर रही है।भारतीय प्रशासन ने इन देशों की सीमा से सटे अपने इलाके की सीमा में कैम्प भी लगवा दिए हैं।सरकार का मानना है कि यूक्रेन में हवाई सेवाएं बन्द कर दिये जाने से अब इन देशों के सड़क मार्ग से अन्य भारतीय व छात्र अपने देश भारत वापस आ सकेंगे।विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार यूक्रेन से जैसे भारतीय इन देशों में पहुंचेंगे तब उन्हें कतर के रास्ते भारत लाया जाएगा।

हमारे लाल वापस लाओ

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों के परिजन अब अपना धैर्य खोते जा रहे है।ज्यादातर परिवार विदेश मंत्रालय के सम्पर्क में है।एक जानकारी के अनुसार हरियाणा, मध्यप्रदेश व उत्तर प्रदेश के छात्र यूक्रेन में फंसे हुए हैं।भारत के अन्य प्रांतों के भी छात्र यूक्रेन में फंसे हुए हैं लेकिन अभी उनकी पुष्टि नहीं हो पाई है।हरियाणा के सोनीपत जिले की छात्राएं यूक्रेन में फंसी हुई है।जबकि उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के लगभग 33 विद्यार्थी,इटावा जिले के 8 विद्यार्थी भी यूक्रेन में फंसे हुए हैं।मध्यप्रदेश के ग्वालियर शहर से एमबीबीएस की पढ़ाई करने के लिये यूक्रेन गए छात्र के पिता तरुण भटनागर ने सरकार से कहा है कि उनका लाल जल्द वापस लाओ।उन्होंने भारत सरकार से मांग की है कि उनके बेटे को जल्द से जल्द सुरक्षित वापस लाया जाए।

Advertisement

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें