होम देश फेसबुक की हाई प्रोफाइल निशा जिंदल गिरफ्तार

फेसबुक की हाई प्रोफाइल निशा जिंदल गिरफ्तार

हाई प्रोफाइल निशा जिंदल गिरफ्तार

इंडिया 24×7 न्यूज़: जोधपुर के उमेद भवन पैलेस के राजघराने की बेटी निशा जिंदल जो खुद को प्रधानंत्री का नज़दीकी बताती है, उसे रायपुर पुलिस ने रायपुर के कबीर नगर इलाके से गिरफ्तार किया।

फेसबुक पर बेहद सक्रिय इस महिला की पिछले कुछ समय से भड़काऊ पोस्ट डालने संबंधी शिकायतें आ रही थीं। महिला खुद को बड़ा ताकतवर बताती हैं और फेसबुक पर उनकी प्रोफाइल देख कर ऐसा लागत है की ये महिला बहुत ही प्रभावशाली हैं, इंटरनेशनल सिक्योरिटी एजेंसी की मीटिंग करती हैं। रायपुर के इनकम टैक्स और पुलिस हेडक्वार्टर में भी मीटिंग में शामिल होती हैं, छत्तीसगढ़ के राजयपाल और मुख्यमंत्री को आदेश देकर घर बुलाने की ताक़त रखने वाली महिला ये सब बातें फेसबुक पर लगातार डालती रहती थी।

173 देशों का दौरा कर चुकी बताने वाली इस महिला का कहना है कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए इन्होने अपने रसूख और संबंधों का इस्तेमाल कर डेढ़ लाख से ज़्यादा टेस्टिंग किट छत्तीसगढ़ के लिए मंगवाई हैं।

फेसबुक पर इस महिला के 10,000 फॉलोअर और 4000 दोस्त हैं जिनमे पत्रकार और व्यवसायी भी शामिल हैं।

दरसल इस महिला द्वारा फेसबुक अकाउंट पर एक विशेष समुदाय के बारे में भड़काऊ पोस्ट डाले जाने के बारे में शिकायतें मिलने पर पुलिस पिछले एक महीने से इस महिला की खोजबीन में लगी हुई थी।

पुलिस ने पहले इस महिला से फेसबुक पर दोस्ती की इसकी बारे में और जानकारी निकाली। इस महिला की खोजबीन करते हुए पुलिस जब इसके घर तक पहुंची तो पुलिस को एक बड़ा झटका लगा। खुद को निशा जिंदल बताने वाली असल में रवि पुजारा नामक एक शख्स निकला जो पिछले 8 वर्षों से निशा जिंदल के फर्जी नाम से इस नकली अकाउंट को चला रहा था।

रवि पुजारा नामक यह शख्स पिछले 11 साल से इंजीनियरिंग पास नहीं कर पा रहा था। घंटों फेसबुक पर लगे रहने वाला यह शख्स दिन में रोज़ 8 से 12 पोस्ट डाला करता था। खुद को असली दिखने के लिए इस शख्स ने अपने रिश्तेदार भी दिखा रखे थे, ये सारे फेसबुक अकाउंट उसने खुद से बनाये थे ताकि लोग उसपर शक ना करें।

पकड़े जाने पर पुलिस ने उससे उसकी फोटो सहित निशा जिंदल की फेसबुक आई डी पर अपनी फोटो डलवाई और लिखवाया की मैं पुलिस कस्टडी में हूँ, मई ही निशा जिंदल हूँ।

रवि पुजारा नामक यह शख्स जितना समय मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ पोस्ट डालने और फेसबुक चलाने में खराब करता था यदि उतना समय पढ़ाई करने में लगाता तो शायद आज इंजीनियर होता।

अगली बार जब आप किसी अनजानी महिला को फेसबुक या इंस्टाग्राम पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजें या कोई लड़की आपको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजे तो सावधान रहें। फेसबुक पर ऐसे हज़ारों लाखो फर्जी अकाउंट हैं जिसे पहचानकर फेसबुक कम्पनी इन्हे खुद से हटा देती है लेकिन रवि पुजारा जैसे बहुत से लोग हैं जो अच्छे अच्छों को चकमा देने में माहिर हैं।

Advertisement
पिछला लेखदो संतों और ड्राइव को भीड़ ने पीट पीट कर मार डाला
अगला लेखमौलाना साद ने की प्लाज़्मा देने अपील की

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें