होम ट्रेंडिंग हिजाब, नक़ाब और बुर्क़े में क्या है फ़र्क़

हिजाब, नक़ाब और बुर्क़े में क्या है फ़र्क़

हिजाब, नक़ाब और बुर्क़े में क्या है फ़र्क़

शुभम शेखर: हिजाब को लेकर देशभर चर्चा और विरोध हो रहे हैं, प्रदर्शन हो रहे हैं। राजनीति गरमा रही है। राजनीतिक दल हिन्दू मुस्लिम ध्रुवीकरण और धर्म की राजनीति के नाम पर सत्ता की रोटीयां सेकने की कोशिश कर रहे हैं। हम और आप भी जाने बहस का हिस्सा। हम में से कुछ लोग धर्म के नाम पर कुछ ज़्यादा उत्साहित हो कर मर्यादाएं पार कर जाते हैं। लेकिन हम मुद्दे की गहराई में नहीं जाते क्योंकि या तो हमारे पास समय नहीं है, या किसी ने बताय नहीं या फिर हम इसे ज़रूरी नहीं समझते। हमे तो बस अपनी राय देनी होती है चाहे हम उसे समझते हों या नहीं।

हिजाब पिछले कई दिनों से कर्नाटक की सियासत और लॉ एंड ऑर्डर का केंद्र बिंदु बना हुआ है। आज एक बार फिर कर्नाटक के उच्च न्यायालय में हिजाब विवाद पर सुनवाई हुई, सुनवाई में हिंदू लड़कियों के चूड़ी पहनने की दलील तक दे दी गई। हालांकि आज कोई फैसला नहीं आया और सुनवाई कल भी जारी रहेगी। फैसला क्या आता है ये तो वक्त बताएगा फिलहाल हम आपको बताते हैं की आखिर हिजाब, बुर्का और नक़ाब में क्या अंतर है।

हम अक्सर हिजाब,नक़ाब और बुर्क़े को एक ही समझ बैठते हैं लेकिन ऐसा है नहीं


इस्लाम के धार्मिक ग्रंथ कुरान के सुरा 24 के अंतर्गत मुस्लिम महिलाओं और पुरुषों को शालीनता से कपड़े पहने और आचरण करने के लिए कहता है, उसके अनुसार महिलाओं को अपने छाती और चेहरे को अपने परिवार के अलावा सभी के सामने ढक कर रखना चाहिए और इसे ही हिजाब कहा गया है। ये तो बात हुई की आखिर हिजाब का क्या महत्व है। अब आपको बताते हैं हिजाब और अन्य वस्त्रों के बीच का अंतर।

अपने मोबाइल पर हमारी एप्प डाउनलोड करें

कहीं आप होटल या फ्लाइट के लिए ज़्यादा पैसा तो नहीं दे रहे, यहाँ देखें


हिजाब: हिजाब एक प्रकार का स्कार्फ होता है जो सिर और बालों को ढकने के लिए पहना जाता है। ये चेहरे को नहीं ढकता है। हिजाब अलग अलग रंगों और डिजाइन में उपलब्ध होता है।


नक़ाब: नक़ाब जैसा की नाम से ही समझ आता है इसका इस्तेमाल चेहरे को ढकने के लिए किया जाता है। ये हिजाब के साथ भी इस्तेमाल किया जाता है। नक़ाब आंखो के अलावा चेहरे के हर हिस्से को ढकता है।


बुर्का: अक्सर लोग बुर्का और नक़ाब को एक ही समझ लेते हैं, लेकिन दोनों में काफी फर्क होता है। जहां एक ओर नक़ाब आंखों के अलावा पूरे चेहरे को ढकता है तो वहीं दूसरी ओर बुर्का शरीर के सभी हिस्सों को ढकता है। बुर्के में आंखों के पास जालीदार कपड़ा लगा होता है जिससे पहनने वाले को दिखाई दे सके।

इन कपड़ों के अलावा चादर, अल-अमीरा, खिमार और शॉल जैसे और भी वस्त्र है जिनका उपयोग किया जाता है। जनवरी के अंतिम सप्ताह में दक्षिण भारत से शुरू हुआ ये विवाद अब उत्तर भारत की सियासत को गर्म कर रहा है। शिक्षण संस्थानों को लेकर अब कोर्ट क्या तय करती है इस पर सभी की निगाहें टिकी हुई है।


Advertisement

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें